मुफ्त में आप सभी प्रकार के दर्द से राहत पाना चाहते है तो ये अपनाये हीटिंग पैड लगाये आप के दर्द कम हो जायेगा . पूरा पढ़े ….

घटते  उम्र  में  जोड़ के दर्द  होना  सुरु हो जाता  है . आप  दर्द से राहत पाना चाहते है तो  ये  कम करे

शरीर में किसी भी दर्द के होने पर हमें सबसे पहले हीटिंग पैड का ख्‍याल आता है। और हो भी क्‍यों न! हीटिंग पैड के इस्‍तेमाल से दर्द से तुरंत राहत जो मिल जाती है। गर्दन और पीठ में दर्द से राहत पाने के लिए हीटिंग पैड का इस्‍तेमाल सबसे अच्‍छे उपायों में से एक है। हीटिंग पैड की मदद से तनावपूर्ण मांसपेशियों के दर्द को कम करने में मदद मिलती है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द को शांत करने के लिए घर में मौजूद सामग्री की मदद से खुद से बनाये जाने वाले हीटिंग पैंड बहुत ही आसान और जल्‍द राहत देने वाला तरीका है। आप घर में मौजूद सामग्री की मदद से आसानी से हीटिंग पैड बना सकते हैं। आइए घर पर हीटिंग पैड बनाने के उपायों के बारे में जानें। 
heating pad in hindi

कैसे काम करता है हीटिंग पैड

दर्दनाक अंगों में ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ाने की क्षमता हीट थेरेपी का सबसे महत्‍वपूर्ण पहलू है। हीट ब्‍लड वेसल को खोलता है, जिससे दर्द वाले अंगों में आसानी से ब्‍लड  और ऑक्‍सीजन को सर्कुलेट होने में मदद मिलती है। हीट थेरेपी मांसपेशियों की ऐंठन को कम करने के साथ-साथ मांसपेशियों, लिगमेंट और टेंडन को आराम देने में मदद करती है। डॉक्‍टर कभी-कभी पीरियड्स की ऐंठन या यूरिन ट्रैक्‍ट इंफेक्‍शन से राहत पाने के लिए हीटिंग पैड का उपयोग करने की सलाह देते हैं। इन समस्‍याओं में हीटिंग पैड पेट पर लगाया जाता है।


खुद का हीटिंग पैड बनाने की विधि 1

बोर्ड द्वारा प्रमाणित मेरीलैंड में अर्थराइटिस ट्रीटमेंट सेंट्रर के एमडी नातान वी ने हीटिंग पैड बनाने की सरल विधि के बारे में बताया है। आइए जानें वह विधि क्‍या है और इसके लिए किन-किन चीजों की जरूरत पड़ती है। इसके लिए आपको दो छोटे तौलिये, एक जिपलॉक बैग और माइक्रोवेव की जरूरत होती है।


बनाने का तरीका

  • दोनों तौलिये को पानी से गीला करके हल्‍का नम रखने के लिए बाकी के पानी को निचोड़ दें।
  • एक तौलिये को जिपलॉक बैग में डाले, लेकिन बैग को बंद न करें।
  • फिर इसे माइक्रोवेव में रखकर दो मिनट के लिए गर्म करें।
  • माइक्रोवेव से बैग निकाले। लेकिन सावधान रहे-क्‍योंकि यह गर्म होता है।
  • अब जीपलॉक बैग को सील करें और बैग के आसपास अन्‍य गीले तौलिये को लपेटें।
  • इस होममेड पैड को हीट लेने के लिए दर्द वाले अंग पर कम से कम 20 मिनट के लिए लगाये।

खुद का हीटिंग पैड बनाने की विधि 2

ज्‍यादातर लोगों के घर की दराज में एक अकेला मोजा मिल ही जाता है। खैर, आप इस अकेले मोजे का अच्‍छा उपयोग कर सकते है। अगर आपको गर्दन और कंधे का दर्द परेशान कर रहा है तो आपको एक जुर्राब और कुछ चावल की जरूरत है। बड़ा मोजा यानी ट्यूब जुर्राब होने यह पैड अच्‍छी तरह से काम करता है।


बनाने का तरीका

  • चावल को जुर्राब में भरें आप इसे इतना भरे ताकी आप इसे सिलाई, रबर बैंड या तार से अच्‍छे से बंद सकें।  
  • इसे माइक्रोवेव में दो मिनट के लिए रखें।
  • फिर इसे माइक्रोवेव से निकालें और अपनी गर्दन और कंधे पर लगाये। लेकिन सावधान रहें क्‍योंकि यह ज्‍यादा गर्म हो सकता है। अगर आपका हीटिंग पैड ठंडा हो गया है और आपको कुछ और समय गर्मी की जरूरत है तो इसे फिर से 1 मिनट के लिए माइक्रोवेव करके दोबारा लगाये।

खुद का हीटिंग पैड बनाना सस्‍ता और प्रभावी होने के साथ इलेक्ट्रिक हीटिंग पैड की तुलना में सुरक्षित भी होता है। साथ ही दर्द के दौरान आपको बाजार भी नहीं जाना पड़ता। लेकिन अगर आपके मांसपेशियों और जोड़ों का दर्द कई दिनों में तक बना रहता है तो अपने डॉक्‍टर से संपर्क करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.