लडकिया अपने, पिता के घर होती है,”रानी” बन के रहती है. ससुराल जाती है लक्ष्मी”,बनकर…. लेकिन लक्ष्मी से कैसे लक्ष्मी-बाई बन जाती है पूरा पढ़े निचे ब्लोग्ग को ओपन कर के

प्रभु यह क्या मोह माया है?
अपना बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है
और दूसरे का रोये तो सर में।
अपनी बीवी रोये तो सर में दर्द होता है
और दूसरे की रोये तो दिल में 😀
सब प्रभु की माया है!!
ऐक कड़वा सच :-
जब कन्या अपने, पिता के घर होती है,”रानी” बन के रहती है.
पहली बार ससुराल जाती है,”लक्ष्मी”,बनकर जाती है.
और ससुराल में काम कऱते-करते “बाई” बन जाती है,
इस तरह लडकियां “रानी-लक्ष्मी-बाई” बन जाती है…!!!
और फिर वो पति को अंग्रेज समझ कर बिना तलवार के ही इतना परेशान कर देती है कि
बेचारा वो पति, अंग्रेज न हो कर भी “अंग्रेजी” लेना शुरू कर देता है 😀

Leave a Comment

Your email address will not be published.