फिर जी उठे प्रभु यीशु, आधी रात को रोशन हुए गिरजाघर देखने के लिए पूरा भरा रहा …….

मध्य रात्रि को अचानक गिरजाघर अंधेरे में डूब गए। अंधकार में कोयलों से आग जलाई गई। आग से पास्का की बड़ी मोमबत्तियां पुरोहित द्वारा जलाई गईं। मोमबत्ती लेकर जुलूस के रूप में सभी ने चर्च में प्रवेश किया। समाजजनों ने भी अपनी-अपनी मोमबत्तियां इस आग से जलाईं। बड़ी मोमबत्तियों को जलकुंड में डुबोया गया और इस पवित्र जल को सभी ने घर ले जाने के लिए संग्रह किया। जैसे ही घड़ी की सुइयों ने 12 के आंकड़े को छुआ प्रभु यीशु के दोबारा जी उठने की घोषणा हुई और गिरजाघर फिर रोशन हो गए। सभी ने एक-दूसरे को ईस्टर की बधाई दी।
यह दृश्य नजर आया शहर के 9 कैथोलिक गिरजाघरों में शनिवार रात को। रेड चर्च, संत जोसफ चर्च नंदा नगर, संत तेरेजा चर्च पुष्प नगर, संत अरनाल्ड चर्च विजय नगर, संत नार्बट चर्च केट, संत विन्सेंट पलोटी चर्च सुखलिया, होली फेमेली चर्च पीपलिया कुमार में पास्का जागरण हुआ। रात 10 बजे से गिरजाघरों में समाजजनों के जुटने का सिलसिला शुरू हो गया था।
इससे पहले बिशप चाको ने कहा कि हम यह न भूलें कि अपनी मृत्यु के पहले प्रभु यीशु ने असंख्य कष्ट सहे। दुख छोटा हो या बड़ा उसका सामना करना पड़ता है। इंदौर क्रिश्चियन मीडिया फोरम के बीए अलवारिस ने बताया कि 27 मार्च को ईस्टर की आराधना रेड चर्च में सुबह 7 बजे हिंदी और सुबह 8.30 बजे अंग्रेजी में होगी। प्रेस ब्रिटेरियन चर्च छावनी के सचिव यशवंत नेतराम ने बताया कि ईस्टर संडे पर भोर की आराधना सुबह 5.30 बजे होगी। 
  • फिर जी उठे प्रभु यीशु, आधी रात को रोशन हुए गिरजाघर
  • गिरजाघरों में प्रभु यीशु को प्रार्थना में किया याद
  • गुड फ्राईडे पर प्रभु यीशु की याद में निकाला जुलूस
  • क्रिसमस पर उत्साह व आनंद के साथ थिरके श्रद्धालु

  •  

    Leave a Comment

    Your email address will not be published.