Bahut hi achhi soch hai kuchh sikhne ke milega pura padhe बिखरने के तो लाख बहाने मिल जायेगे यह जरूरी नही कि हर शख्स हमसे मिलकर खुश हो pura padhe

💚एक बेहतरीन सोच💚

                 हर एक की सुनो👂🏻
             ओर हर एक से सीखो
                 क्योंकि हर कोई,
              सब कुछ नही जानता
                   लेकिन हर एक
       कुछ ना कुछ ज़रुर जानता हैं!

 स्वभाव रखना है तो उस 🔥दीपक की तरह रखिये, जो बादशाह के महल में भी उतनी ही रोशनी देता है, जितनी की किसी गरीब की झोपड़ी ⛺में…

 बिखरने के तो लाख बहाने मिल जायेगे
    आओ हम जुड़ने के अवसर ढूंढे….

     यह जरूरी नही कि हर शख्स हमसे मिलकर खुश हो
      मगर हमारा प्रयास यह रहे कि ,हमसे मिलकर कोई दुखी न हो

Leave a Comment

Your email address will not be published.