सफलता आपका स्वागत करेंगी… रास्ते पर कंकड़ ही कंकड़ बहुत ही अच्छा सन्देश लिखा है पूरा पढ़े ……Amrjeet kumar

अगर तुम उड़ नहीं सकते तो, दौड़ो ! अगर तुम दौड़ नहीं सकते तो, चलो !
अगर तुम चल नहीं सकते तो, रेंगो !
पर आगे बढ़ते रहो”
अपनी सोच और दिशा बदलो
सफलता आपका स्वागत करेंगी… रास्ते पर कंकड़ ही कंकड़ हो तो भी एक अच्छा जूता पहनकर उस पर चला जा सकता है। लेकिन यदि एक अच्छे जूते के अंदर एक भी कंकड़ हो तो एक अच्छी सड़क पर भी कुछ कदम भी चलना मुश्किल है।
यानी – “बाहर की चुनौतियों से नहीं
हम अपनी अंदर की कमजोरियों
से हारते हैं”….
_हमारे विचार ही हमारा भविष्य तय करते हैं..!    

Leave a Comment

Your email address will not be published.