Hindi shayari मशहूर होना पर मगरूर न होना, pura dekhe padhe

अफ़सोस होता है उस पल जब अपनी पसंद कोई ओर चुरा लेता है,
ख्वाब हम देखते है और हक़ीक़त कोई और बना लेता है..

मशहूर होना पर मगरूर न होना,
कामयाबी के नशे में चूर न होना,
मिल जाए सारी कायनात आपको
मगर इसके लिए कभी ‘अपनों’ से दूर न होना

Leave a Comment

Your email address will not be published.